Header Ads

Pan Card Online Apply कैसे करे /पैन कार्ड ऑनलाइन केसे बनाएं

 

Pan Card Online Apply कैसे करे- Online Pan Card घर बैठे कैसे बनाये पूरी जानकारी पाए.


स्वागत है आप सभी का हमारे ब्लॉग की नयी Pan card Kaise Banaye- Pan Card Online Apply कैसे करे इस पोस्ट पर. दोस्तों बिना पैन कार्ड के आपको बैंकिंग के क्षेत्र में आगे चलके काफी दिक्कतों सामना करना पढ़ेगा क्योकि बिना पैन कार्ड के आप कई सारे काम नहीं कर सकते जैसे के 49000/- रुपयों से अधिक रक्कम अपने बैंक खाते से निकलना या फिर किसीके बैंक खाते में transfer करना.


Pan Card Online Required Documents.

पैन कार्ड ऑनलाइन आवश्यक दस्तावेज।


1.      Passport Photo – आपके पैन कार्ड पर जरुरी होता है.

2.      Aadhar Card/Driving License – फोटो प्रूफ और एड्रेस प्रूफ के तथा जनम तारीख वेरिफिकेशन के लिए.

3.      Election Voting Card – फोटो प्रूफ और एड्रेस प्रूफ के तथा जनम तारीख वेरिफिकेशन के लिए (ध्यान रहे आप इसे जन्म तारीख के लिए तभी इस्तेमाल कर सकते है जब इसपर आपकी सही जनम तारीख छपी हो.

4.      Matriculation Certificate/Birth Certificate – जनम तारीख वेरिफिकेशन के लिए.

5.      कंप्यूटर और इन्टरनेटपैन कार्ड फॉर्म online apply करने के लिए.

6.      scanner – डाक्यूमेंट्स अपलोड करने के लिए.

7.      Printer – online pan application पूरा भरने के बाद उसकी प्रिंट लेने के लिए



Online apply for pan card / Pan Card Online कैसे बनाये?ऊपर दिए गए डाक्यूमेंट्स आपके पास होने पर 

ऊपर दिए गए डाक्यूमेंट्स आपके पास होने पर ऑनलाइन पैन कार्ड आवेदन  इस लिंक पर क्लिक करे. जिसके बाद निचे दी गयी इमेज की तरह विंडो शो करेगी.


  1. अगर आप पर्सनल पैन कार्ड बना रहे ही तो Application Type में New Pan – Indian Citizen (Form 49 A) को सिलेक्ट करे.
  2. Category में INDIVIDUAL चूस करे.
  3. Title में Shri/Smt/Kumari में से एक Gender के हिसाब से सिलेक्ट करे.
  4. Last Name/Surname में अपना सरनेम डाले.
  5. First Name लिखे.
  6. Middle Name लिखे.
  7. Date of Birth सही सही दर्ज करे.
  8. Email आईडी दर्ज करे.
  9. Mobile Number दर्ज करे.
  10. जैसे के तैसा Capcha code बॉक्स में डाले.
  11. Submit पे क्लिक करे.
  12. अब आपके Display पर जो Temprory Token Number शो होगा यूज़ नोट करले.
  13. आपने successfully रजिस्ट्रेशन कर लिया है अब आगे की विंडो में निचे दी गयी इमेज के Continue With pan application पर क्लिक कर लॉग इन करे.

अब लॉग इन होने के बाद आपको आपके डाक्यूमेंट्स के अनुसार ही निचे दी गयी इमेज की तरह विंडो शो करेगी उसमे भरना है ध्यान रहे गलत न भरे.




  1. Adhar Numbar सही सही दर्ज करे.
  2. Title में automatically Gender शो होगा जैसे की Shri/Smt/Kumari. अगर नहीं तो सिलेक्ट करे.
  3. Last Name/First Name/Middle Name दर्ज करे.
  4. Next पर क्लिक करे. उसके बाद निचे दी गयी स्क्रीन के ओपन होने पर पूरी पर्सनल जानकारी जो online pan application form में दी गयी है दर्ज करे.


    1. Personal Details और Contact & Other Details भरे.
    2. अगर आपके Aadhar Card पर सही जनम तारीख और पता हो तो सभी जगह Aadhar card सिलेक्ट करे Submit digitally through e-KYC & e-Sign (Paperless) यह आप्शन सिलेक्ट करे जिससे आपको Physically डाक्यूमेंट्स भेजने की जरुरत नहीं होती है.
    3. Next पर क्लिक करे.

    AO Code भरिये, अगर आपको नहीं पता हो तो State, District सिलेक्ट करे उसके बाद निचे दिए गए पॉइंट पर क्लिक कर Next पर क्लिक करे. इस तरह आगे की प्रोसेस में आपको Payment का आप्शन शो होगा जिसमे आप Pan card आवेदन का शुल्क ११७/- रूपए के आसपास Credit card/Debit card/Internet banking से कर सकते है. पेमेंट होने के बाद अपने पैन आवेदन की प्रिंट ले और यूज़ अपने पास संभाल के रखे.

    अगर आपने Submit digitally through e-KYC & e-Sign (Paperless) अलावा Forward application documents physically यह आप्शन सिलेक्ट किया था तो आपको अपना online Pan card आवेदन और supported डाक्यूमेंट्स को निचे दिए गए पते पर भेजना अनिवार्य होता है पर ध्यान रहे जिस invelop में आप आवेदन भेज रहे है उसके ऊपर APPLICATION FOR PAN— N-881010100000099 एसा जरुर लिखे. (अपना Acknowledgement number दर्ज करे.)

  5. अगर आप अपने Pan card आवेदन का Pan status जानना चाहते है तो यहाँ पर क्लिक करे. 

    1. Pan Application Type में Pan – New /Change Request सिलेक्ट करे.
    2. Acknowledgement Number या अपना full Name के आप्शन में से कोई एक सिलेक्ट करे और वह जानकारी दर्ज करे.
    3. Date of Birth जो आपने ऑनलाइन पैन आवेदन करते वक़्त भरा थ वह दर्ज करे.
    4. Submit पर click करे.







आप भी पता कर सकते हैं PAN Card असली है या नकली? ऐसे करेंगे जांच तो नहीं खाएंगे धोखा

इनकम टैक्स विभाग (Income tax department) की तरफ से 10 अंकों की एक पहचान संख्या जारी की जाती है. इसे परमानेंट अकाउंट नंबर कहते हैं.

किसी भी फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन के लिए पैन कार्ड (PAN Card) होना सबसे जरूरी है. पैन कार्ड के दस अंको के जरिए आप बैंक अकाउंट खुलवाने, प्रॉपर्टी की खरीदने या बेचने, गाड़ी खरीदने या बेचने, आईटीआर फाइल करने, 2 लाख रुपए से ज्यादा की ज्वैलरी खरीद जैसे कई कामों को आसानी से कर सकते हैं, लेकिन आजकल फर्जी पैन कार्ड के कई मामले सामने रहे हैं. ऐसे में आप भी कोई भी ट्रांजेक्शन करने से पहले जान लें कि आपका भी पैन कार्ड कहीं फर्जी तो नहीं है. आइए हम आपको बताते हैं कि आप कैसे सही पैन कार्ड की पहचान कर सकते हैं.

IT डिपार्टमेंट जारी करता है पैन
इनकम टैक्स विभाग (Income tax department) की तरफ से 10 अंकों की एक पहचान संख्या जारी की जाती है. इसे परमानेंट अकाउंट नंबर कहते हैंपैन कार्ड हमारी पहचान का एक जरूरी डॉक्यूमेंट है. खासकर वित्तीय मामलों में इसका बड़ा रोल है.

 

 

ऐसे कर सकते हैं अपने PAN की पहचान-

·         आपको सबसे पहले इनकम टैक्स विभाग के -फाइलिंग पोर्टल पर जाना होगा.

·         यहां पर आपको सीधी तरफ ऊपर की ओरवेरीफाई योर पैन डिटेल्सके लिंक पर क्लिक करना होगा.

·         इसके बाद में यूजर्स को पैन कार्ड की डिटेल भरनी होगीं.

·         इसमें आपको पैन नंबर, पैन कार्ड होल्डर का पूरा नाम, उसकी जन्मतिथि आदि की जानकारी दी जाएगी.

·         सही जानकारी भरने के बाद पोर्टल पर मैसेज आएगा कि भरी गई जानकारी आपके पैन कार्ड से मैच करती हैं या नहीं.

·         इस तरह आप आसानी से पैन कार्ड की सत्यता का पता लगा सकते हैं.

बढ़ रहे हैं फर्जी मामले
देशभर में हुए लॉकडाउन के बाद फर्जी पैन कार्ड के जरिए लोगों को ठगी का शिकार बना रहे हैं. ऐसे में अपने पैन कार्ड की सत्यता की जानकारी होना सबसे जरूरी है. देश में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की ओर से जारी किए गए पैन कार्ड की जांच करना भी जरूरी है.

 

 

 

अक्षरों में छुपा होता है सरनेम
पैन कार्ड पर कार्डधारक का नाम और डेट ऑफ बर्थ तो लिखी ही होती है, लेकिन पैन कार्ड के नंबर में आपका सरनेम भी छुपा होता है. पैन कार्ड का पांचवां डिजिट आपके सरनेम को दर्शाता है. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट कार्डधारक के सरनेम को ही अपने डाटा में दर्ज रखता है. इसलिए अकाउंट नंबर में भी उसकी जानकारी होती है. हालांकि, इस बात की जानकारी टैक्स डिपार्टमेंट कार्डधारक को नहीं देता.

 

 

से लेकर क्रेडिट कार्ड तक होती है निगरानी
पैन कार्ड नंबर एक 10 डिजिट का खास नंबर होता है, जो लेमिनेटेड कार्ड के रूप में आता है. इसे इनकम टैक्स डिपार्टमेंट उन लोगों को इश्यू करता है, जो पैन कार्ड के लिए अर्जी देते हैं. पैन कार्ड बन जाने के बाद उस व्यक्ति के सारे फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन डिपार्टमेंट के पैन कार्ड से लिंक् हो जाते हैं. इनमें टैक्स पेमेंट, क्रेडिट कार्ड से होने वाले फाइनेंशियल लेन-देन सभी कुछ डिपार्टमेंट की निगरानी में रहते हैं.

डिपार्टमेंट तय करता है नंबर
इस नंबर के पहले तीन डिजिट अंग्रेजी के लेटर्स होते हैं. यह AAA से लेकर ZZZ तक कोई भी लेटर हो सकता है. ताजा चल रही सीरीज के हिसाब से यह तय किया जाता है. यह नंबर डिपार्टमेंट अपने हिसाब से तय करता है.

 

 

 

 

पैन कार्ड नंबर का चौथा डिजिट भी अंग्रेजी का ही एक लेटर होता है. यह पैन कार्डधारी का स्टेटस बताता है. इसमें-
यह हो सकता है चौथा डिजिट...
P-
एकल व्यक्ति
F-
फर्म
C-
कंपनी
A- AOP (
एसोसिएशन ऑफ पर्सन)
T-
ट्रस्ट
H- HUF (
हिन्दू अनडिवाइडिड फैमिली)
B- BOI (
बॉडी ऑफ इंडिविजुअल)
L-
लोकल
J-
आर्टिफिशियल जुडिशियल पर्सन
G-
गवर्नमेंट के लिए होता है

सरनेम के पहले अक्षर से बना पांचवां डिजिट
पैन कार्ड नंबर का पांचवां डिजिट भी ऐसा ही एक अंग्रेजी का लेटर होता है. यह डिजिट पैन कार्डधारक के सरनेम का पहला अक्षर होता है. यह सिर्फ धारक पर निर्भर करता है. गौरतलब है कि इसमें सिर्फ धारक का लास्ट नेम ही देखा जाता है.

इसके बाद पैन कार्ड में 4 नंबर होते हैं. ये नंबर 0001 से लेकर 9999 तक कुछ भी हो सकते हैं. आपके पैन कार्ड के ये नंबर उस सीरीज को दर्शाते हैं, जो मौजूदा समय में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में चल रही होती है. इसका आखिरी डिजिट एक अल्फाबेट चेक डिजिट होता है, जो कोई भी लेटर हो सकता है.

कहां-कहां है पैन कार्ड जरूरी
पैन कार्ड की मदद से आपको विभिन्न वित्तीय लेन-देन में आसानी होती है. इसकी मदद से आप बैंक खाता और डीमैट खाता खोल सकते हैं. इसके अलावा प्रॉपर्टी की खरीद-फरोख्त के लिए भी यह जरूरी होता है. दरअसल, पैन कार्ड टैक्सेबल सैलरी के साथ ही इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने के लिए भी जरूरी है. चूंकि पैन कार्ड पर नाम और फोटोग्राफ होते हैं, ऐसे में यह आइडेंटिटी प्रूफ के तौर पर भी काम करता है. भले ही आपका पता बदलता रहे, लेकिन पैन नंबर नहीं बदलता. ऊंची दर पर टैक्स डिडक्शन से बचने के लिए पैन कार्ड जरूरी होता है. दरअसल, जब आप 50 हजार रुपए से ज्यादा की राशि से एफडी शुरू करते हैं तो पैन कार्ड की फोटोकॉपी देनी होती है. पैन के अभाव में ऊंची दर पर आपका टीडीएस काट लिया जाएगा.

इन परिस्थितियों में भी है पैन कार्ड जरूरी
=>
दो पहिया के अलावा किसी दूसरे वाहन की खरीद-बिक्री
=>
किसी होटल या रेस्तरां में एक बार में 25 हजार रुपए से ज्यादा का बिल
=>
शेयरों की खरीददारी के लिए किसी कंपनी को 50 हजार रुपए या इससे ज्यादा का भुगतान
=>
बुलियन या ज्वैलरी की खरीदारी के लिए पांच लाख रुपए से ज्यादा का भुगतान
=>
पांच लाख रुपए या इससे ज्यादा कीमत की अचल संपत्ति की खरीद-बिक्री
=>
बैंक में 50 हजार रुपए से ज्यादा जमा करने के दौरान
=>
विदेश यात्रा के संबंध में 25 हजार रुपए से ज्यादा का भुगतान
=>
बॉन्ड खरीदने के लिए RBI को 50 हजार रुपए या इससे ज्यादा का भुगतान
=>
बॉन्ड या डिबेंचर खरीदने के लिए किसी कंपनी या संस्था को 50 हजार रुपए से ज्यादा का भुगतान

 

 

पैन कार्ड की सत्यता की करें पहचान

1.पैन कार्ड की सत्यता जांचने के लिए इनकम टैक्स विभाग की -फाइलिंग (Pan Card e-filing) पोर्टल पर जाएं और लॉग इन करें.
2.
यहां ऊपर की ओरवेरीफाई योर पैन डिटेल्सके लिंक पर क्लिक करना होगा.
3.
अब यूजर को पैन कार्ड की डिटेल भरनी होगी. इसमें अपना पैन नंबर, पैन कार्ड होल्डर का पूरा नाम, जन्मतिथि आदि की जानकारी भरनी होगी.
4.
इसके बाद सही जानकारी भरने के बाद पोर्टल पर मैसेज आएगा कि भरी गई जानकारी आपके पैन कार्ड से मैच करती हैं या नहीं. अगर जानकारी सही होंगी तो पैन कार्ड की सत्यता (Pan Card Original) का पता लगा सकते हैं

 

 

 

 


No comments